Nishir Daak In Hindi | निशिर डाक भारत के सबसे डरवाने भूत

स्वागत है दोस्तों, आपका इस Creepy Stories ब्लॉग पर और आज हम जानने वाले है India’s Most Haunted Ghosts Nishir Daak के बारे में।

दोस्तों, यह Nishir Daak शब्द एक बंगाली शब्द है और इसका हिंदी में मतलब होता है “अँधेरे में एक पुकार”. वैसे संस्कृत में निशि का अर्थ “रात होता है” और डाक का अर्थ “पुकार” होता है। जो कि पूरी तरीके से निशिर डाक को समझाता है कि “अँधेरे में एक पुकार”


दोस्तों, मेरी सहायता करे। आप Amazon Prime Video का Free Sign Up करे, मेरी दी गई Link से। अगर आप Horror Movies देखना पसंद करते है तो आप Sign Up कर सकते है। यह Sign Up बिलकुल Free है।

Sign Up Link


दोस्तों आपने छलावे के बारे में जरूर सुना होगा। एक छलावा एक ऐसी बुरी शक्ति होती है जो किसी का भी रूप ले लेती है और किसी की भी आवाज में बात करके लोगों को भ्रम में डालकर उनको मार डालती है।

वैसे ही, निशिर डाक भी एक ऐसी ही बुरी शक्ति होती है। जो लोगों को उनके परिचित याने कि उनके परिवार के सदस्यों की आवाज में बुलाती है और फिर उनको किसी सुनसान इलाकों में ले जाकर मार डालती है। है ना यह बहुत खतरनाक!!

सोचों, अगर आपको रात में आपके परिवार का कोई सदस्य आपका नाम लेकर पुकारे कि बेटा, जरा दरवाज़ा खोलना। तब आप क्या करोगे।

मतलब कि आपको यह थोड़ा अजीब नहीं लगेगा। आखिर आपके परिवार का वो सदस्य वहाँ बाहर कर क्या रहा है? वो भी इतनी रात में। थोड़ा अजीब है ना!!

आपकी माँ या आपकी पत्नी की प्यारी-सी आवाज में कोई दरवाजा खोलने को कहे और जैसे ही, आपने दरवाज़ा खोला, BOOM… क्योंकि अब आपकी खैर नहीं। सामने एक निशि है।

ज़्यादातर कहा जाता है कि निशि आपको आपकी माँ या पत्नी की ही आवाज में पुकारती है और फिर ये आपको अपने वश में करके किसी सुनसान कुँवे या आसपास के किसी वीरान पड़े खंडहर या खाली जगह या जंगल में ले जाकर आपको मार डालती है। पर मारने से पहले, ये आपको इसके भयंकर रूप के दर्शन कराती है।

कहावतों के अनुसार, इनका रूप बहुत ही भयानक और खून को जमा देने वाला होता है। शायद, कुछ लोग तो इसे देखते ही दिल का दौरा पड़ने से ही मर जाते होंगे।

पर इससे बचने का एक तरीका है। कहा जाता है कि निशि डाक केवल लोगों को दो से तीन बार तक ही पुकारती है और इस बीच, कोई उसकी आवाज सुनकर बाहर आ जाता है तो वो मारा जाता है। ये ज़्यादातर रात या आधी रात और केवल अमावस्या के समय ही पुकारती है तो अगर आपको कोई पुकारे और वो दिन अमावस्या की काली रात का हो तो आप उसके दो से तीन बार पुकारने तक का इंतज़ार करे।

अगर आपको दो से तीन बार आवाज़ आने के बाद कोई आवाज नहीं आती है तो फिर आप सुरक्षित है और यह भी पता चल जायेगा कि वो कोई आपके परिवार का नहीं बल्कि स्वंय एक निशि है।

निशि को ज्यादातर एक अँधेरी जगह पर खड़ा हुआ पाया जाता है। यह आपको उस अँधेरी जगह से आवाज देती है और आपको अपने पास बुलाती है।

एक निशि वे आत्मायें होती है जिनका सही से पिंडदान नहीं होता है या जिनकी इच्छायें अधूरी रह जाती है।

बहुत से लोग रहस्य्मयी तरीकों से मारे जाते है जिनके बारे में कोई यह नहीं बता पाता कि इनकी मौत के पीछे के कारन क्या है? बहुत से लोग अज्ञात कारणों से रोड़ एक्सीडेंट्स में मारे जाते है और लोगों का मानना होता है कि इसकी मौत किसी निशि के द्वारा ही हुई होगी।

जब भी कोई किसी सुनसान रास्ते से अपनी गाड़ी से कहीं जा रहा होता है तो यह बुरी आत्मा उसे उसके परिवार वालों की आवाज में पुकारती है और जैसे ही, उसका फोकस अपनी गाड़ी से हटता है तो बस उसकी दुर्घटना में मौत हो जाती है और अगर वो बच भी जाये तो निशि तो है ही उसका खेल ख़त्म करने के लिये।

अंत में बस इतना कहना चाहता हूँ कि ऐसी बुरी ताकतों से जितना दूर सके उतना दूर रहना चाहिये। इस लेख को मनोरंजन की दृष्टि से पढ़े। ये जानकारी केवल लोगों के द्वारा कहीं गई बातों को बताती है। यह लेख Nishir Daak के सच या झूठ होने का दावा किसी भी तरह से नहीं करता है।

Nishir Daak is the most dangerous ghost among all the dangerous ghosts.

दोस्तों, मैं आशा करता हूँ कि आपको Nishir Daak निशिर डाक शीर्षक वाली यह Real Horror Story पसंद आई होगी। ऐसी और भी Real Ghost Stories In Hindi में सुनने के लिये, हमारे ब्लॉग Horrorstoryhindi.com पर बने रहे। यदि आप YouTube पर Ghost Stories सुनना पसंद करते है तो मेरे YouTube ChannelCreepy Content” को सब्सक्राइब कर ले।

धन्यवाद!

7 thoughts on “Nishir Daak In Hindi | निशिर डाक भारत के सबसे डरवाने भूत”

Leave a Comment